Posts

Showing posts from July, 2015

ताजगी और स्फूर्ति देते ये विडियो

Image
ऐसा कई बार होता है कि जब आप थके हों या किसी और वजह से आप उदास हों, और आपको आपका मनपसंद विडियो या गाना देखने या सुनने को मिल जाय तो मन फ्रेश हो जाता है, ताजगी से भर जाता है. यहाँ पर अल्लू अर्जुन और अनुष्का मनचंदा के विडियो का लिंक दिया जा रहा है. यह विडियो ऊर्जा से भरपूर है. इसको देखने के बाद मन में ऊर्जा का संचार हो जाता है और दिल झुमने लगता है. जरुर देखे इस विडियो को : 

मैं यहाँ पर इसके अलावा कुछ और विडियो का लिंक embed कर रही हूँ. ये सारे विडियो मुझे बहुत पसंद हैं. उम्मीद करती हूँ आप सबको भी पसंद आयेगी. 
1.फिल्म एक विलेन का यह गाना ताजगी का एक एहसास लिए आता है और दिल को छूकर निकाल जाता है. अंकित तिवारी की आवाज बिलकुल फ्रेश है.



2.इस गीत का बोल तो “गन्दी बात” है लेकिन जब सोनाक्षी और शाहिद की जोड़ी इस गाने पर नाचते हैं तो बरबस आप भी नाचने लगते हैं, यही तो संगीत का जादू है जो पैरों में जोश ला देता है.



3.हम फिल्म का यह गाना यू तो नब्बे के दशक का है लेकिन आज भी इसका प्रभाव काम नहीं हुआ है. जुम्मा चुम्मा दे दे खासकर यंग लोगों को ताजगी और रोमांस से लवरेज कर देता है.


4.  आप किसी भी शादी विवाह के फ…

तेल मालिश सही पोषण के लिए बहुत जरुरी!

Image
नवजात शिशु खिले हुए फूल की तरह होते हैं. उनकी मासूमियत, उनकी नन्हे - नन्हे हाथ पैर, उनकी कोमल त्वचा देखकर उपरवाले के करिश्मे के सामने सिर अपनेआप झुक जाता है. लेकिन धरती पर  आने के बाद से लेकर कुछ वर्षों तक उनकी देखभाल अच्छी तरह से करनी पड़ती है. जब मेरी बिटिया हुई तो मुझे बच्चों को किस तरह से रखा जाय, के बारे में ज्यादा कुछ मालूम नहीं था. लेकिन घर में  बड़े बुजुर्गों का इन सब के बारे में सहयोग और परामर्श आपको सब कुछ सिखा देता है. नवजात शिशु की विशेष देखभाल करनी पड़ती है. इस पोस्ट में विशेष रूप से बच्चों के मालिश के बारे में बात करना चाहूंगी. 



छोटे बच्चों का नियमित मालिश बच्चों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरुरी ही नहीं अति आवश्यक  होता है. नवजात शिशु चूँकि किसी तरह का कोई शारीरिक गतिविधि नहीं करता है, बल्कि वह अठारह से बीस घंटे तक सोता रहता है. जब ऐसे नवजात सोकर उठते हैं तो उनके शरीर की मालिश की जाती है. वजह यह है कि ज्यादा देर तक सोने की वजह से उनके शरीर में दर्द होने लगता है या थकान हो जाती है. दूसरे नवजात सिर्फ माँ के दूध पर आश्रित होते हैं इसलिए उनका पाचन भी सही तरीके से होता है. मालिश क…

शहद – एक प्राकृतिक मिठास स्रोत

Image
शहद भी मीठा, चीनी भी मीठा. फिर दोनों में क्या अंतर है? कहने को तो दोनों मीठा होता है लेकिन दोनों में बहुत ही व्यापक अंतर है. शहद चीनी की तुलना में स्वास्थ्य के लिए अधिक अनुकूल है. चीनी में सिर्फ ग्लूकोज  होता है जबकि शहद में ग्लूकोज , फ्रूकटोज, स्टार्च फाइबर, विटामिन एवं अन्य खनिज तत्व भी पाए जाते हैं. Honey Diet हमारे भोजन को संतुलित बनाता है. Honey is an essential component to make our food balanced.  आखिर शहद में वह क्या खासियत है जिसकी वजह से इसे हमें अपने भोजन अंग बनाना चाहिए.



शहद त्वचा को कांति प्रदान करता है. यह एक एंटीऑक्सीडेंट है. एंटीऑक्सीडेंट हमारे शरीर के प्रतिरोधी क्षमता को बढाता है.  
गरमी में तरबूज और शहद को मिलकर जूस का सेवन किया जा सकता है. एक चौथाई भाग तरबूज लें. उसका बीज निकालकर मिक्सी में पीस लें. पुदीना के कुछ पत्ते मिला दें. अदरक भी मिला सकते हैं. शहद मिलाकर उसे इस्तेमाल करें.
शहद और नीबू के रस को बराबर भाग में मिला लें. दिन में दो बार,  20 मिनट तक अपने चेहरे या त्वचा पर लगाकर रखें. इससे चेहरे पर काले रंग के निशान दूर हो जाता है. 
शहद के प्रयोग का प्रमाण 4000 साल पुर…

यू सी ब्राउज़र से इन्टरनेट पर तेजी से सर्च करें

Image
जब हम ब्राउज़र की बात करते हैं तो हमारे मन में एक ही विचार आता है कि ब्राउज़र इतना तेज चले कि कोई भी वेबसाइट झट से खुल जाये और अपना काम तुरंत हो जाए. खास तौर पर जब हम मोबाइल पर इन्टरनेट सर्फिंग करते हैं या टैब पर किसी वेबसाइट को खोलना चाहते हैं. जब मनचाहा साईट जल्दी से नहीं खुलता है तो अन्दर ही अन्दर कोसते हैं उस ब्राउज़र को. वेबसाइट या फेसबुक या अन्य साईट के नहीं खुलने से बहुत परेशानी भी होती है. सही समय पर सन्देश नहीं पहुँच पाता. कई बार आप क्रिकेट का लाइव स्कोर देखना चाहते हैं कि ब्राउज़र का गोल चक्का गोल गोल घुमने लगता है और घूमता ही जाता है. उस समय क्या सोचते हैं आप, तनिक सोचिये. लेकिन अब आपकी इन समस्याओं का समाधान मिल गया है. मैं तो यक़ीनन ऐसी स्थिति में UC Browser का ही इस्तेमाल करूंगी. 
जाहिर सी बात है हर कोई फ़ास्ट ब्राउज़िंग चाहता है. व्यर्थ में अपना समय क्यों गवाएं. मुझे लगता है कि मेरे पोस्ट को पढने से पहले आप इस विडियो को जरुर देखें. 




UC Browser के प्रोडक्ट कंसलटेंट मशहूर क्रिकेटर युवराज सिंह हैं. इस विज्ञापन में एक क्रिकेट फेन क्रिकेट का लाइव अपडेट देखना चाहता है लेकिन ब्राउज़र का …

खुल जाए बचपन ख़ुशी के पल

कहा गया है बचपन हर गम से बेगाना होता है. बच्चे मन के सच्चे होते हैं. लेकिन क्या आपको पता है बच्चों का पालन पोषण किस तरह से किया जाना चाहिए. अंग्रेजी का एक शब्द है – Buddy Parenting. आखिर ये buddy parenting क्या है? बच्चों को अपना दोस्त मानकर जब उसका पालन पोषण किया जाता है तो उसे buddy यानि मित्रवत माना जाता है. 
जब बच्चे यह जान जाते हैं कि मेरे माता –पिता मुझसे मित्रवत व्यवहार करते हैं तो वह पूरी तरह से खुल जाते हैं और उनका बचपन पूरी तरह से खिल जाता है. हमारे सामने बहुत ऐसे ख़ुशी के पल आते हैं जो हमें अपने बच्चे देते हैं. ज्यादातर माता पिता अपने बच्चों को छोटा और अवोध समझकर उनकी तरफ ध्यान नहीं देते हैं. मैं यहाँ एक दो किस्से का जिक्र करना चाहूँगा जहाँ मैंने अपने बच्चों से सीखा है. आजकल के बच्चे electronic गैजेट्स  को use करने माहिर हैं. खासकर मोबाइल को हैंडल करने में. जब मुझे मोबाइल का function समझने में दिक्कत आती है तो मेरा बेटा झट से उसे कर देता है. 



सवाल यह उठता है कि बच्चे कब पूरी तरह से खुल जाते हैं? जब उन्हें लगता है कि उनकी बात को अच्छी तरह से सुना जा रहा है. इसके लिए माता पिता क…

आस

Image
आस लगाये  तेरे दर पे आया  मुरलीवाला