रातगाँव बरारी


तीन मुहानी से पश्चिम उत्तर गुप्ता बांध के उस पार रात गाँव बरारी स्थित
है. यहाँ मुस्लिम, राजपूत, ब्राह्मण, भूमिहार, वैश्य, पासवान आदि समुदाय के लोग रहते हैं. नवोदय क्लब रात गाँव वॉली बाल का क्लब है. यहाँ के युवक इसी परिसर में वॉली बाल का अभ्यास करते हैं. यहाँ टोला से सटा एक प्राथमिक विद्यालय है. राजेंद्र सिंह (भूटान में शिक्षक थे), इंदु कुमार सिंह, अनिल सिंह, गिरीश कुमार सिंह, आदित्य कुमार, रंधीर, सचिन इस टोले के कुछ प्रमुख लोग हैं.

सिमरबन्ना

वर्तमान में रात गाँव थाना नंबर ११५ बाउंड्री कमीशनर नंबर २८१ रेवेन्यू सर्वे नाम मिर्जापुर भीम को सिमरबन्ना कहा जाता है. यहाँ पर सिमल के बहुत पेड़ हुआ करते थे. अभी रात गाँव गुप्ता बाँध के दोनों तरफ बसा हुआ है जिसमे अधिकांश अनुसूचित जाति, पासवान और राजपूत लोग बसे हुए हैं. पासवान में ढोरहाय पासवान और चंचल भगत प्रसिद्द व्यक्ति हुए. राजपूत में श्री मिश्रीलाल सिंह, राम निहोरा सिंह , मुसो सिंह आदि प्रमुख व्यक्ति हुए

चोचवावन

कहा जाता है कि गुप्ता बाँध के पास स्थित तीन मुहानी से पश्चिम चोचवावन एक खाई नुमा स्थान है. बड़े बुजुर्गों का कहना है कि जब राष्टीय राजमार्ग 28 अवध तिरहुत रोड के नाम से जाना जाता था, से गुजरने वाले राहगीर और व्यापारी को लुटेरे लूट लेते थे और उनको मारकर इसी चोचवा वान की खाई में फेक देते थे.
 

Comments

Popular posts from this blog

तेल मालिश सही पोषण के लिए बहुत जरुरी!

देशाटन से लाभ