Posts

Showing posts from March, 2013

दुलारपुर मठ को प्राप्त दान से संबंधित कुछ दस्तावेज

Image

दुलारपुर के कुछ परिवारों का वंश वृक्ष

Image

दुलारपुर मठ को प्राप्त दान से संबंधित कुछ दस्तावेज

Image
दुलारपुर मठ को समय समय पर बहुत सारे दान  भूमि के रूप में प्राप्त हुए थे. उनका विवरण इस प्रकार है :








दुलारपुर के पहलवान

Image
प्राचीन काल से ही मनुष्य की शारीरिक शक्ति किसी भी समाज, गाँव या राष्ट्र के मूल्यांकन का एक प्रमुख मानदंड रहा है. इतिहास गवाह है कि हनुमानजी, भीम जैसे बलशाली चरित्र भारतीय संस्कृति के लिए एक गौरव की बात रही है. इनके शौर्य, पराक्रम और बल का गुणगान अरिदल भी करते थे. वर्तमान काल में भी ओलम्पिक और अन्य खेलों में कुश्ती में पदक जीतकर खिलाडी अपने देश का नाम रौशन करते हैं. अगर इस संदर्भ में गाँव स्तर पर देखा जाए तो बेगुसराय जिला के तेघरा प्रखंड स्थित दुलारपुर गाँव का इतिहास भी वर्णनीय है. दुलारपुर की इस पावन धरती ने कई नामी और दिग्गज पहलवानों को जन्म दिया है. > झोटी सिंह:- इनके बारे में कहा जाता है कि इनका शरीर विशालकाय था. इनका वजन 300 किलोग्राम से भी अधिक था. > राम उचित सिंह :- ये भूतपूर्व विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह के चाचा थे. ये एक ऐसे पहलवान थे जिनके सीख में संतलाल सिंह जैसे पहलवान बने. > लोकी सिंह :- ये एक बहुत ही प्रसिद्ध पहलवान थे. इनके बारे में प्रसिद्ध है कि एक बार एक हाथी गंगा नदी के किनारे एक दलदल में फंस गया. इन्होने अपने बुद्धि और बल से उस हाथी को सुरक्षित बाहर निकाल लिय…

Monak baat

दुलारपुर मठ को प्राप्त दान से संबंधित दस्तावेज

Image
यहाँ दुलारपुर मठ को प्राप्त दान से संबंधितकुछ दस्तावेज की प्रतिलिपि दिए जा रहे हैं जो इसकी महत्ता को प्रमाणित करती है कि उन दिनों यह मठ अध्यात्म और सांस्कृतिक हलचल का कितना बड़ा केंद्र रहा होगा.