प्रमुख व्यक्तित्व



हम अब प्रमुख व्यक्तित्व श्रृंखला में दुलापुर/तेघरा अंचल / बेगुसराय जिला के कुछ प्रमुख व्यक्तियों के बारे में चर्चा करना चाहेंगे. इस श्रृंखला में सबसे पहले व्यक्तित्व हैं:

श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह, राज्य सचिव, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, बिहार
  
श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह का जन्म दुलारपुर नयानगर में हुआ था. इनके पिताजी का नाम श्री रामेश्वर प्रसाद सिंह था. जो एक बुद्दिजीवी किसान थे. श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह को लोग राजो दा के नाम से बुलाते हैं. इन्होने अपने हाई स्कूल की परीक्षा जन्दाहा हाई स्कूल से पास की. इसके बाद कॉलेज में दाखिला लिया और स्नातक की परीक्षा पास कर ली. गार्हस्थ जीवन में सबसे पहले इन्होने जन वितरण प्रणाली में डीलर का कार्य शुरू किया जो इनके सार्वजनिक जीवन की पहली पाठशाला साबित हुई और इसके बाद इन्होने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. सबसे पहले पंचायत में सरपंच के पद हेतु चुने गए और उसके बाद मुखिया बने. मुखिया रहते हुए इन्होने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विकास हेतु जी तोड़ मेहनत किया और कई सालों तक बेगुसराय जिला कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव रहे.

Rajendra Prasad Singh

1995 में 106 बरौनी विधान सभा (ध्यातव्य हो कि उस समय बरौनी विधान सभा ही था बाद में परिसीमन के चलते यह तेघरा विधान सभा बन गया ) से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने राजो दा को अपना उम्मीदवार घोषित किया. इन्होने भाजपा के राम लखन सिंह को पराजित किया और बिहार विधान सभा के सदस्य बने.
2000 के चुनाव में भी इन्होने पुनः राम लखन सिंह को हराया.

फरवरी 2005 में हुए विधान सभा चुनाव में इन्होने लोक जनशक्ति पार्टी के प्रदीप राय को हराया.

पुनः अक्टूबर 2005 में हुए मध्यावधि चुनाव में भाजपा के सुरेन्द्र मेहता को पराजित किया.

इस प्रकार श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह 1995 से 2010 तक लगातार 15 वर्षों तक बरौनी विधान सभा का प्रतिनिधित्व किया. इसके बाद पार्टी ने इन्हें और बड़ी जिम्मेदारी दी और आजकल ये भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की बिहार राज्य के राज्य सचिव हैं, जो कि सिर्फ दुलारपुर गाँव, या तेघरा विधान सभा के लिए नहीं अपितु पूरे बेगुसराय जिले के लिए गौरव की बात है. श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह को घुड़सवारी का बेहद शौक है. हिंदी और अंग्रेजी दोनोँ भाषा पर इनकी समान पकड़ है. आनेवाले दिनों में हो सकता है कि सीपीआई इनको कोई और भी बड़ी जिम्मेदारी दे. श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह में अदभुत सांगठनिक क्षमता है जिसके कायल इनका एक -एक कार्यकर्ता है. सुदूर देहात से लेकर कार्यानंद भवन (सीपीआई का बेगुसराय जिला मुख्यालय ) के स्वीपर तक को ये नाम से जानते हैं जो इन्हें एक जमीनी नेता साबित करता है. इसलिए तो इन्हें दुलारपुर का धरतीपुत्र भी कहा जाता है. ऐसे इनकी सबसे अच्छी बात यह है कि अपने मुंह पर अपनी तारीफ इन्हें बिलकुल पसंद नहीं है.


श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह से जुड़ी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें :



विशेष : श्री राजेंद्र प्रसाद सिंह से जुड़ी कोई भी जानकारी/ सामग्री / फोटो या इस लेख में लिखे गए किसी भी चीज पर आपत्ति हो तो हमें सूचित करें. हम वैसे सामग्री को यहाँ से हटा देंगे.

हमें ईमेल करें : behtarlife@gmail.com

नोट : मैं दुलारपुर दर्शन ब्लॉग को पढने वाले लोगों से अपील करना चाहता हूँ कि इसमें आप हमारी मदद कर सकते हैं. यदि आपके पास, दुलारपुर/ तेघरा/ बेगुसराय/बिहार से जुड़ी कोई भी सामग्री /फोटो /आर्टिकल/ लिंक आदि हो तो आप मुझसे शेयर करें. हम इसे आपके नाम और फोटो के साथ प्रकाशित करेंगे.

Email  : behtarlife@gmail.com

Comments

Popular posts from this blog

तेल मालिश सही पोषण के लिए बहुत जरुरी!

देशाटन से लाभ